Firewall क्या है-Firewall meaning in Hindi

Firewall क्या है-आज मैं आपको यह बताने जा रहा हूँ, अगर आप नेट का इस्तेमाल करते हैं तो कभी-न-कभी फायरवाॅल के बारे में जरूर सुना होगा। फिर आपने इसके अर्थ को समझने की कोशिश की होगी, आज मैं आपको बताने जा रहा कि फायरवाॅल क्या है।

Firewall क्या है?-Principal of Firewall in Hindi

फायरवाॅल एक सॉफ़्टवेयर एप्पलिकेशन या हार्डवेयर डिवाइस है ,

जो नेटवर्क या कंप्यूटर में प्रवेश करने या बाहर निकलने वाले टैफिक के लिए एक फिल्टर के रूप में कार्य करता है।

आप इसे आपके घर के चौकीदार के रूप में सोच सकते हैं,

जो यह तय करता है कि कौन आपके घर में प्रवेश करता है या बाहर निकलता है।

Firewall in computer in Hindi

जैसे-जैसे इंटरनेट की पहुंच लागों तक पहुंचती जा रही है वैसे-वैसे इंटनेट पर हैंकिग के खतरे भी बढ़े हैं, कोई भी आपके कम्प्यूटर में प्रवेक कर आपके डाटा को चुरा सकता है ,

इस हालात में फायरवाॅल एक ऐसी युक्ति है जिससे आप यह निश्चत कर सकते है कि कोई भी अवांछित(Undesired) डाटा आपके कम्प्यूटर में प्रवेश न कर सकें।

Firewall ke prakar-फयरवाॅल दो तरह के होते हैं

सॉफ्टवेयर फयरवाॅल(Software Firewall)

सॉफ्टवेयर फयरवाॅल आपके कम्प्यूटरमें इन्सटाल होता है,

सॉफ़्टवेयर फायरवाॅल को कुछ प्रोग्रामों को लोकल नेटवर्क या इंटरनेट से सूचना भेजने और प्राप्त करने से रोककर कंप्यूटर की सुरक्षा के लिए डिज़ाइन किया गया है।

डिफ़ॉल्ट रूप से, अधिकांश प्रोग्रामों को इसके द्वारा रीस्ट्रिक्ट(Restrict) किया जाता है,

लेकिन फायरवाॅल सेटिंग्स के माध्यम से बाहर रखा जा सकता है। इसका अच्छा उदाहरण विन्डोज फायरवाॅल है।

Firewall क्या है
Windows Firewall(विन्डोज फायरवाॅल)

हार्डवेयर फायरवाॅल(Hardware Firewall)

हार्डवेयर फायरवाॅल एक सर्वर के समान एक भौतिक(Physical) उपकरण है जो कंप्यूटर पर ट्रैफ़िक को फ़िल्टर करता है।

नेटवर्क केबल को सर्वर में प्लग करने के बजाय, यह फायरवाॅल से जुड़ा हुआ होता है।

एक कम्प्यूटर की तरह, ये डिवाइस शक्तिशाली नेटवर्किंग कम्पोनेन्ट(Component) (हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर) का भी इस्तेमाल करते हैं और सभी ट्रैफ़िक को उन कम्पोनेन्ट से पार हो कर जाने के लिए मजबूर करते हैं जो कि पहले से सेट रूल्स(Set rules) द्वारा जांच(Inspection) करते हैं।

जांच के परिणाम अनुसार ट्रैफ़िक को एक्सेस(Access) ग्रान्ट(Grant) या डिनाई(Deny) करते हैं।

फायरवाॅल की क्यों जरुरी है?-Advantage of Firewall in Hindi

फायरवाॅल आमतौर पर नेटवर्क के अंदर कनेक्शन की अनुमति नहीं देते हैं ,

जो नेटवर्क के बाहर से शुरू किए जाते हैं जब तक कि आप उन्हें अनुमति नहीं देते।

यही कारण है कि वे सुरक्षित वेब सर्फिंग के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं।

इसके बिना, आपके कम्प्यूटर पर आपके द्वारा चलाए जा रहे कोई भी एप्लिकेशन जो नेटवर्क कनेक्शन स्वीकार करता है,

जो इंटरनेट पर किसी से भी जुड़ा हो सकता है।

यदि कोई हैकर आपके किसी भी एप्लिकेशन से संबंध बनाने में सक्षम है,

तो वह एप्लिकेशन में सुरक्षा खामियां मौजूद होने पर आपके कम्प्यूटर को हैक कर सकता है।

इंटरनेट पर आपके कम्प्यूटर की सुरक्षा के लिए यह एक अत्यंत आवश्यक घटक है।

Firewall configuration in Hindi

ऐसे तो विन्डोज आॅपरेटिन्ग सिस्टम में आपको Firewall Configuration नहीं करनी पड़ता है क्योंकि वह Default रुप में ही आॅन रहता है,फिर भी आप उसको अपने तरीखे से आॅफ या आॅन कर सकते हैं इसके लिए आपको start menu में जाना होगा फिर वहाँ से control panel में जाना है फिर वहाँ से system and security में जाना है फिर वहाँ windows Firewall में Check firewall status और Allow a program through windows Firewall के दो आॅफशन मिलते है जिससे आप फायरवाॅल को आॅफ या आॅन कर सकते हैं या किसी भी प्रोग्राम को फायरवाॅल allow या disallow से कर सकते हैं।

फायरवाॅल की खामियाँ-Limitions of Firewall in Hindi

1.अगर टैफिक फायरवाॅल से नहीं गुजरता तो फायरवाॅल आपके इन्टरनेट के खतरों को नहीं बचा सकता है।

2.फायरवाॅल effectiveness उसकी settings की पर निर्भर करती है।

3अगर settings द्वारा ही फिल्टरटर्ड traffic से ही attack होता है तो फायरवाॅल कुछ नहीं कर सकता है।

4.बिल्कुल नये खतरे जिन्हें डिपाइन(Define) नहीं किया गया। फायरवालॅ उन्हें रोक नहीं सकता है।

5.कुछ वायरस(Virus) को फायरवाॅल रोक नहीं सकता।

सारांश में, इसका उपयोग आपके कम्प्यूटर की सुरक्षा के लिए किया जाता है जब आप इंटरनेट से जुड़े होते हैं।

वे आपके निजी नेटवर्क और इससे जुड़े पीसी में घुसपैठ को रोकने के लिए आवश्यक हैं।

आशा है कि Firewall क्या है यह आपकी समझ में आ गया होगा।यदि आप इंटरनेट से जुड़े हैं, तो यह अत्यधिक आवश्यक है कि आप अपने कम्प्यूटर को इंटरनेट के खतरों से बचाने के लिए फायरवाॅल का इस्तेमाल करें।

Leave a Comment