Dark वेब क्या है और कैसे ऐक्सेस करते हैं

आपने के Dark web बारे में सुना होगा आज मैं आपको Dark वेब क्या है (what is Dark web in hindi) यह बताने जा रहा हूँ। आपने अगर इन्टरनेट का इस्तेमाल किया होगा तो इसके बारे में जरुर सुना होगा। लेकिन आप नये इन्टरनेट यूजर है तो आप इसके बारे में जानना चाहेंगे। आज मैं इसके बारे में विस्तार से बताने जा रहा हूँ।

इन्टरनेट के तीन पार्ट होते हैं। पहला पार्ट क्लीन वेब (Clean web) होता है। यह वह पार्ट होता है जिसको सामान्य सर्च इंजन द्वारा इंडेक्स किया गया हो, या कहे कि आप जिस इन्टरनेट के जिस हिस्से को साधारण वेब ब्राउजर द्वारा ब्राउज करते हैं वह ही क्लीन वेब है।

दूसरा पार्ट होता है डीप वेब(Deep web), इसका हिस्सा Dark वेब होता है जो कि तीसरा पार्ट होता है। इसे Dark नेट भी कहते हैं।

आम सर्च इंजन से केवल हम इन्टरनेट का 4 प्रतिशत ही पहुँच पाते है जो क्लीन वेब होता है। बाकी 94 प्रतिशत डीप वेब और Dark वेब को मिला कर बनता है।

डीप वेब क्या है?(What is Deep web in hindi)

डीप वेब इन्टरनेट का वह हिस्सा है जो पासवर्ड से सुरक्षित रहता है जैसे किसी बैंक की वेबसाइट का वह हिस्सा जो आप केवल अपने आइडी और पासवर्ड से ही खोल सकते हैं। इसी प्रकार किसी दूसरी वेबसाइट जहाँ आपको केवल पासवर्ड से अन्दर जा सकते हैं। वह डीप वेब है।

Dark वेब क्या है? (what is Dark web in hindi)

Dark वेब क्या है

Dark वेब डीप वेब का ही हिस्सा हैै जो कि मैं पहले ही बता चुका हूँ। Dark वेब का मतलब यह नहीं है यह पूरी तरह से काली दुनिया है या गैरकानूनी है।

यह इन्टरनेट का वह हिस्सा है जो किसी भी साधारण सर्च इंजन द्वारा इन्डेक्स नहीं किया गया होता है । लेकिन ज्यादतर Dark वेब का इस्तेमाल Pornography, Illegal Drug supply, Child Trafficking आदि के लिए किया जाता है । जो सामान्यता गैरकानूनी मानी जाती हैं।

यहाँ पर लोगो के क्रडिट कार्ड की सम्बन्धित सूचना या फिर नेटफिल्स जैसी वेबसाइटों के लिए जरुरी पासवर्ड आदि भी मिल जाएगी। यहाँ लोगो की प्राइवेट जानकारी भी लोगो को बेची जाती है।

लेकिन यह केवल Dark वेब का एक पहलू है,

दुसरा हिस्सा यह है दुनिया में अनेक देश है जहाँ इन्टरनेट पर बहुत सारी चीजें बैन होती है जो सरकार के खिलाफ होती है ऐसी जानकारी का आदान-प्रदान एक जुर्म माना जाता है। तब काम आता है Dark वेब जहाँ आप अपनी पहचान छुपा कर सारी जानकारी शेयर कर सकते है। यह एक तरह से स्वतन्त्रता प्रदान करता अपनी बात को कहने का ।

इसके अलावा कई वेबसाइट अपने यूजरों को जाहिर न करने की नीति का बड़ी गंभीरता से पालन करते हैं। वे अपने वेबसाइट को केवल Dark वेब पर ही चलाते हैं। साथ ही ऐसी ईमेल सेवा भी हैं जो Darkवेब पर ही चलती है। जैसे-Protonmail, Secmail आदि। इसके अलावा फेसबुक भी आपको Dark वेब पर मिल जाएगी।

Dark वेब का इतिहास (History of Dark web)

Dark वेब को इन्टरनेट की दुनिया में लाने का श्रेय अमेरिकी नौव सेना को जाता है। उसी ने सबसे पहले इसे पूरी तरह से सुरक्षित कम्युनिकेशन माध्यम के रुप जन्म दिया।

अमेरिकी नौव सेना का मानना था कि इन्टरनेट से किसी भी डाटा तरह का भेजना काफी खतरनाक हो सकता है। इसलिए ऐसे वेब को लाया गया जहाँ केवल कुछ लोग ही जाते हों। और जहाँ सुरक्षा के लिए एक आवश्यक पहलू हो।

Dark वेब को कैसे एक्सेस कर सकते हैं (How can I access Dark web)

डार्क वेब की वेबसाइटों के वेब ऐडरेस के अन्त .onion में लिखा होता है जो यह दर्शाता है कि यह Dark वेब से जुड़ी साइट है। इसे आप साधारण वेब ब्राउजर से खोल नहीं सकते।

Dark वेब ब्राउजर (Dark web browser)

आप इसके ब्राउजिंग लिए का Chrome, Firefox, Opera इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। इसके लिए खास वेब ब्राउजर की जरुर पड़ती है जो कि टाॅर ब्राउजर (Tor Browser) है। टाॅर ब्राउजर के बारे में और अधिक में जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

लेकिन इसकी एक कमी है जब इसका इस्तेमाल आप करते हैं जो यह कि दिखाता है कि आप टाॅर का इस्तेमाल कर रहे हैं। लेकिन आप इसके साथ वीपीएन का इस्तेमाल कर सकते है जो आपको ज्यादा सुरक्षित बनाएगी।

आपको सबसे पहले वीपीएन इन्स्टाल करना है फिर टाॅर इन्स्टाल कर Dark वेब में जा सकते हैं।

Dark सर्च इंजन (Dark search engine)

Dark वेब में अलग तरह की सर्च इंजन की जरुर पड़ती है यहाँ Google, Bingeआदि से काम नहीं चलता। यहाँ पर काम चलता DuckDuckGo, Searx, Not Evil, Torch, Grams आदि से है इन जैसे सर्च इंजन जो आपकी पहचान को छिपाए रखती हैं।

फायदें Dark वेब के (Benefits of Dark web)

Dark वेब आपकी प्राइवेसी को सुरक्षित रखती हैं। यह जो जानकारी देती है वह आपकी पहचान छुपा कर देती है। जो यह इसे सुरक्षित बनाता है। इसके अलावा यह उन लोगो के लिए सुरक्षित माध्यम है। जो सरकार के खिलाफ आवाज उठाते है। या ऐस कुछ जानकारी या फाइल शेयर करते है जो उनके जीवन के लिए खतरा का कारण हो सकता है।

Dark वेब का नुक्सान (Disadvantage of Dark web)

इसके फायदें तो हैं मगर आज यह अपने नुक्सानो के लिए ज्यादा जाना जाता है। मैंने पहले ही बताया है कि यह आपकी पहचान छिपाता है। जिसके कारण कोई भी असामाजिक व्यक्ति किसी भी तरह के गैरकानूनी काम को यहाँ कर सकता है जैसे- किसी भी व्यक्ति की हत्या के लिए सुपारी देना। इसके अलावा गैरकानूनी ड्रग्स का व्यापार करना, प्रारेटेड फिल्म को बेचना, किसी के प्राइवेट डाटा आदि को बेचना इसके नुक्सान हैं।

क्या Dark वेब गैरकानूनी है? (Is Dark web illegal)

अब सवाल उठता है कि क्या गैरकानूनी है। नहीं ये गैरकानूनी नहीं है लेकिन इसके अन्दर जा कर नाजायाज काम करना जरुर गैरकानूनी है।

आशा है कि आपने Dark वेब क्या है ( What is Dark web ) इसके बारे में काफी कुछ जाना होगा। कोई कमी रह गई हो तो कोमेन्ट के माध्यम से जरुर बताए।

Leave a Comment