LibreOffice क्या है और इसका यूज कैसे करते हैं?

आज मैं आपको के बारे में बताने जा रहा हूँ LibreOffice क्या है।( What is libreoffice in hindi) आप ने शायद LibreOffice के बारे में सुना होगा यदि आप MS Office केवल यूज करते है लेकिन कभी Linux यूज किया होगा तो इसके बारे में जरुर जानते होगें। जिस प्रकार एम एस आॅफिस का विन्डोज आॅपरेटिक सिस्टम अभिन्न हिस्सा है उसी प्रकार लाईनक्स का लिब्रेआॅफिस अभिन्न हिस्सा है।

आपके पास कम्प्यूटर है और उसमें आॅपरेटिक सिस्टम विन्डोज है तो उसमें एम एस आॅफिस भी इन्टाल होगा। चाहे उसका लाइसेन्स आपने खरीदा हो या फिर आप प्राइरेटेडकाॅपी यूज क्यों ना करते हो। आप इससे अच्छी तरह से वाकिफ होगें। हर किसी की एम एस आॅफिस की जरुत पड़ती ही है लेकिन इसकी बड़ी खामी है इसे खरीदना पड़ता है।

लेकिन लाईनक्स के यूजर एम एस आॅफिस का यूज नहीं करते हांलाकि वाइन(Wine) का यूज कर एम एस आॅफिस को लाईनेक्स में भी इन्टाल किया जा सकता हैं। इसका एक ही कारण की लाईनेक्स के आॅपरेटिंग सिस्टम में लिब्रेआॅफिस इन्टाल होता है जो पूरी तरह से प्री होता है । यह विन्डोज आॅपरेटिक सिस्टम के लिए भी पूरी तरह से प्री है। आज मैं उसी के बारे में बताने जा रहा हूँ।

LibreOffice क्या है

LibreOffice क्या है?(What is LibreOffice in Hindi)

लिब्रेआॅफिस एम एस आॅफिस की तरह आॅफिस सूट है जो कि पूरी तरह से प्री है। आज लाखों लोग इसका इस्तेमाल अपने घर या आॅफिस में करते है। यह एम एस आॅफिस की तरह आपकी मदद वर्ड प्रोसेसिन्ग, प्राजेनटेंशन, डाटाबेस, स्प्रेडशीट और डाईग्राम बनाने में करता है।

लिब्रेआॅफिस का इतिहास (History of LibreOffice in Hindi)

इसे पहले स्टारराईटर के नाम से जाना जाता था जिसे नाम के एक जर्मन स्टुडेन्ट ने बनाया था। बाद में उसने स्टार डिविजन नाम की कम्पनी बनाई ताकि स्टारराईटर को और विकसित किया जाए।

बाद में 1999 सनमाइक्रोसिस्टम ने इसे खरीद लिया और इसका नाम ओपनआॅफिस डाट आॅर्ग रखा। फिर 2009 में ओरेकल ने सनमाइक्रोसिस्टम को खरीद लिया। बाद में डोक्यूमेन्ट पाउन्डेसन ने इसकी एक शाखा को लिब्रेआॅसिफ के रुप में विकसत किया।

लिब्रेआॅफिस के अंग (Parts of LibreOffice)

लिब्रआॅफिस के छह अंग है। जो इस तरह से हैं-

1.राईटर((Writer)

2.कैल्क(Calc)

3.इमप्रेस(Impress)

4.ड्रा(Draw)

5.बेस(Base)

6.मैथ(Math)

लिब्रेआॅफिस राईटर क्या है? (What is LibreOffice Writer in Hindi)

यह लिब्रेआॅफिस में मौजूद वर्ड प्रोसेसिन्ग टूल है। जिस प्रकार आप एम एस आॅफिस में वर्ड से सबंधित डोक्यूमेन्ट बनाते उसी प्रकार इसमें वर्ड से सबंधित डोक्यूमेन्ट बनाते है। यह काफी अच्छा और सरल इन्टरफेस देता है। इसमें वह सभी टूल्स है जो एक अच्छा वर्ड प्रोसेसिन्ग टूल में होने चाहिए।

लिब्रेआॅफिस कैल्क क्या है? (What is LibreOffice Calc in Hindi)

जिस प्रकार एम एस आॅफिस के ऐक्सल में हम स्प्रेडशीट बनाते हैं। उसी प्रकार कैल्क में हम स्प्रेडशीटबनाते हैं। स्प्रडशीट के लिए प्रोपेशनल टूल में जो टूल्स होने चाहिए वे सभी इस में मौजूद हैं।

लिब्रेआॅफिस इमप्रेस क्या है? (What is LibreOffice Impress in Hindi)

यह एम एस आॅफिस में मौजूद पाॅवरपोएन्ट का विकल्प है। यह उसी प्रकार की सुविधा देता है। आप अपने आॅफिस या स्कूल-काॅलेज के लिए यहां प्रजेनटेशन बना सकते है। इसमें वे सभी टूल्स मौजूद है जो एक अच्छे प्रजेनटेशन को बनाने के लिए आवश्यक हैं।

लिब्रेआॅफिस ड्रा क्या है? (What is LibreOffice Draw in Hindi)

ड्रा के जरीये हम कठिन से कठिन फिगर को बना सकते हैं। इसके लिए इसमें अनेक टूल्स होते है जैसे- सेप टूल, स्ट्रेट और कर्पड टूल, पोलीगन टूल। यह एम एस आॅफिस ड्रा का विकल्प है।

लिब्रेआॅफिस बेस क्या है? (What is LibreOffice Base in Hindi)

यह एम एस आॅफिस के ऐक्सेस का विकल्प है जिस प्रकार आप एम एस आॅफिस में डाटाबेस बनाते है उसी प्रकार यहां भी डाटाबेस बनाते हैं। साधारण यूजर को डाटाबेस बनाने की कोई जरुर नहीं होती है और न ही अधिकतर यूजर इसके बारे में जानने हैं।

लिब्रेआॅफिस मैथ क्या है? (What is LibreOffice math in Hindi)

यह वह एप्पिकेशन है जहां आप मैथेमेटिकल इक्यूशन या फोमूला को ऐडिट कर सकते हैं। बाद में उसे लिब्रेआॅफिस के राईटर, कैल्क, ड्रा, इमप्रेस में वह इक्यूशन या फोमूला का यूज कर सकते हैं।

लिब्रेआॅफिस और एम एस आॅफिस में अन्तर( Difference between LibreOffice and MS Office)

लिब्रेआॅफिसएम एस आॅफिस
यह ओपन सोर्स है इसका मतलब है इसके सोर्स को भी रिडिसट्रिबियूट और मोडिफाई कर सकता हैयह ओपन सोर्स नहीं हैं। इसका स्वामित्व माइक्रोसोफ्ट के पास है
यह पूरी तरह से प्री है ।यह प्री नहीं है। इसे खरीदना पड़ता है।
पोर्टेबल वर्जन यूसबी में बिना इन्स्टाल किये चला सकते है।इसमें ऐसा नहीं है।
यह 119 भाषाओं को स्पोर्ट करता है।यह 91 भाषाओं को स्पोर्ट करता है।
इसमें पीडीऐफ फाइल को इमेज के रुप में डाल सकते हैं।इसमें ऐसा नहीं कर सकते हैं।
एम एस वीजियो फाइल इंफोट कर सकते हैं।इसमें ऐसा नहीं कर सकते हैं।
इसमें कोई ईमेल अप्पीकेशन नहीं होता हैं।इसमें आउटलूक ईमेल अप्पीकेशन होता है।
इसमें डेस्कटोप पब्लिकेशन का अलग से सोफ्टवेयर नहीं होता है।इसमें डेस्कटोप पब्लिकेशन के लिए एम एम पब्लिसर होता है।
इसमें क्यू आर कोड जेनेरेट कर सकते है।इसमें ऐसा नहीं कर सकते हैं।
इसमें हाईब्रीड पीडीएफ क्रियेट कर सकते है।इसमें ऐसा नहीं कर सकते हैं।
इसमें आप डोक्यूमेन्ट को इपब के रुप में एक्सपोट कर सकते है।इसमें ऐसा नहीं कर सकते हैं।
इसमें आप एसपीएस फोरमेट के रुप एक्सपोट नहीं कर सकते हैं।इसमें आप एसपीएस फोरमेट के रुप में कर सकते हैं।

इसके आलावा भी कई अन्तर हैं । यहां केवल कुछ ही मुख्य अन्तर को बताया गया है।

इसे आप इस लिंक से डाउनलोड कर सकते हैं।

आशा है कि लिब्रेआॅफिस क्या है (What is LibreOffice in Hindi) यह आपकी समझ में आ गया होगा। मैं उम्मीद करता हूँ कि आप एक बार जरुर ट्राई करेगें। अगर कोई कमी रह गई है तो आप कोमेन्ट के माध्यम से आप जरुर बतायें।

Leave a Comment